आम सूचना

सर्व साधारण को सूचित किया जाता है कि सूचक की मां श्रीमती शांतिबाई पत्नी स्व. श्री गौरी शंकर पुत्री स्व. श्री प्रहलाददास का स्वर्गवास हो चुका है शांतिदेवी के वारिसान में उनके चार पुत्र ओमप्रकाश, अशोक कुमार, विनोद कुमार, गुनप्रकाश एवं एक पुत्री श्रीमती उषादेवी थी। श्रीमती शांतिदेवी के पिता प्रहलाददास जो कि जोरीलाल की संतान थे उन्हें बाद में जौहरीलाल के भाई मानकचंद ने गोद ले लिया था और वह मानकचंद के दत्तक पुत्र हो गए थे प्रहलाददास जी के गोद जाने के बाद मानिकचंद जी के यहां दो संतानों का जन्म हुआ था जिनमें एक दुर्गाप्रसाद तथा दूसरे श्री नन्नामल थे दुर्गाप्रसाद जी के यहां यहा कोई पुत्र संतान नहीं थी नन्नामल जी के यहां एक मात्र पुत्र संतान पुरुषोत्तमदास हुए थे जो इस समय मौजूद है, श्रीमती शांतिदेवी के पिताजी पैतृक संपत्ति शहर शिवपुरी में मौजूद रही है जिसमें एक मकान सदर बाजार शिवपुरी का और एक मकान कोर्ट रोड शिवपुरी का जिसे संजय लॉज के नाम से जाना जाता है शामिल रहा है, सूचक की मां शांतिदेवी का उक्त पैतृक संपत्ति में हिस्सा होने से तथा उस समय शांतिदेवी एवं उनके चाचा-भतीजों के मध्य आपसी सहमति से एक समझौता हुआ था जिसके अनुसार एक रजिस्टर्ड रिलीज डीड दिनांक 06.02.1967 को निष्पादित हुई थी जिसके अनुसार सुचक की मां श्रीमती शांतिदेवी के हक में हाउस नं. 660 हल्का नं. 1 वार्ड क. 6 नगरपालिका शिवपुरी में स्थित ग्रहभाग दूसरी ( उपरी मंजिल का जिसमें दो कोटे आगे एक तिगारा, गोंक शामिल थी जिसमें पूरे जीवनकाल तक श्रीमती शांतिबाई और उनके बच्चे निवास करते रहे हैं, वर्तमान में भी उक्त मकानियत में गुनप्रकाश एवं ओमप्रकाश जी की संताने निवास कर रही है, यह मकानियत पूर्व से पश्चिम 24 फीट की चौड़ाई में और उत्तर से दक्षिण करीब 30 फीट की गहराई में है, इस मकान में आने-जाने के लिए कोर्ट रोड से ही जीना बना हुआ है जिसका उपयोग लगातार शांतिदेवी और उनके बाद उनकी संताने करती चली आ रही है। सूचक को यह ज्ञात हुआ है कि स्व. श्री नन्नामल जी का पुत्र पुरुषोत्तमदास गर्ग वास्तविक तथ्यों को छिपाकर संजय लॉज वाली पूरी संपत्ति के साथ-साथ सूचक एवं उसके भाईयों तथा शांतिदेवी के उत्तराधिकारियों के स्वामित्व व आधिपत्य की संपत्ति को अपनी होना बताकर विक्रय करने के प्रयास में है जिसका कोई अधिकार पुरुषोत्तमदास को नहीं है। अतः एव इस सूचना पत्र द्वारा सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि कोई भी व्यक्ति कोर्ट रोड शिवपुरी पर स्थित संपत्ति जिसे संजय लॉज के नाम से जाना जाता है के क्रय-विक्रय का सम्व्यवहार करते समय इस बात का ध्यान रखे कि संजय लॉज से लगी हुई पूर्व दिशा की मकानियत सूचक एवं उसके भाईयो के स्वामित्व की संपत्ति है जिसे विक्रय करने का अधिकार पुरुषोत्तमदास को नहीं है को छोड़कर ही सम्व्यवहार करे अन्यथा होने वाली हानि के लिए वह स्वयं ही जिम्मेदार रहेगा। 


दिनांक : 04.07.2022




सूचनाः

अशोक कुमार गर्ग पुत्र स्व. श्री गौरीशंकर बंसल निवासी फतेहपुर रोड

शिवपुरी म. प्र.


दैनिक भास्कर 


Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !